Exercise for Biceps: डोले बनाने के लिए बेस्ट हैं ये 3 एक्सरसाइज, मसल्स फाड़कर निकलते हैं बाइसेप्स

Best Exercise for Biceps: अगर बाइसेप्स का साइज नहीं बढ़ रहा है, तो आपको एक्सरसाइज में बदलाव करने की जरूरत है। फिटनेस ट्रेनर ने बाइसेप्स की 3 बेहतरीन एक्सरसाइज के बारे में बताया है।


Exercise for Biceps: डोले बनाने के लिए बेस्ट हैं ये 3 एक्सरसाइज, मसल्स फाड़कर निकलते हैं बाइसेप्स

बाइसेप्स का साइज बढ़ाने (How to increase biceps size) के लिए कुछ एक्सरसाइज ज्यादा फायदेमंद होती हैं। फिटनेस ट्रेनर ने बाइसेप्स के लिए 3 बेहतरीन एक्सरसाइज बताई हैं। जिन्हें करने के बाद डोले बहुत जल्द मोटे और बड़े बन जाएंगे। लेकिन क्या आप जानते हैं कि बाइसेप्स निकलते कैसे हैं?

बाइसेप्स कैसे बनते हैं? बाइसेप्स की एक्सरसाइज करने से मसल्स के फाइबर को क्षति पहुंचती है और वह फट जाते हैं। शरीर न्यूट्रिशन की मदद से उन फटे हुए फाइबर्स को फिर से जोड़ता है और बाइसेप्स का साइज बढ़ने लगता है।अब बड़े बाइसेप्स के लिए जरूरी 3 एक्सरसाइज के बारे में जानते हैं।

1. रिवर्स ग्रिप कर्ल - Reverse Grip Curl
मस्कुलर बाइसेप्स के लिए वर्कआउट में रिवर्स ग्रिप कर्ल भी शामिल करें। यह डोलो का साइज बढ़ाने में मदद करती है। इसे करने के लिए बारबेल पर वेट लगाएं और हथेलियों को अंदर करके पकड़ें। इसके बाद आपको नॉर्मल बारबेल कर्ल की तरह परफॉर्म करना है।

2. इंक्लाइन सीटेड कर्ल - Incline Seated Curl
इंक्लाइन सीटेड कर्ल हाथों की मूवमेंट को फिक्स करने में मदद करती है। बाइसेप्स पर पर्याप्त टेंशन डालने के लिए हाथों का सही पोस्चर बहुत जरूरी है। बाइसेप्स की इस एक्सरसाइज को करने के लिए एक इंक्लाइन बेंच पर बैठ जाएं। अब बारबेल पर वेट लगाकर नॉर्मल बाइसेप्स कर्ल करें।

3. ईजी टू हैमर कर्ल - Easy to Hammer Curl

बाइसेप्स की यह एक्सरसाइज हैमर कर्ल का वैरिएशन है। जो बाइसेप्स के हेड के साथ बाहरी हिस्से पर भी टेंशन देता है। इसे करने के लिए दोनों हाथों में डंबल लेकर हैमर कर्ल की तरह बाइसेप्स के पास लाएं। इसके बाद हथेलियों को ऊपर की तरफ घुमाएं और धीरे-धीरे नीचे लाएं। अब स्टार्टिंग प्वाइंट पर आकर फिर से हैमर कर्ल की तरह डंबल उठाएं।

बाइसेप्स एक्सरसाइज के साथ लें ये चीज

बाइसेप्स बनाने के लिए मसल्स की रिकवरी बहुत जरूरी है। इस रिकवरी को तेज करने के लिए टार्ट चैरी जूस, तरबूज का जूस, फैटी फिश, अनार का जूस, चुकंदर का जूस, व्हे प्रोटीन शेक, अंडे, दूध और उससे बने उत्पादों का सेवन करें।

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

Comments